संगतकार प्रश्न और उत्तर Class 10

Sangatkar Questions and Answers Class 10

प्रश्न 1. संगतकार के माध्यम से कवि किस प्रकार के व्यक्तियों की ओर संकेत करना चाह रहा है?

उत्तर: संगतकार के माध्यम से कवि ‘मंगलेश डबराल’ जी किसी भी काम व कला में लगे कलाकारो व कर्मचारियों जैसे व्यक्तियों की ओर इशारा करना चाह रहे हैं, जो किसी खास व्यक्ति के उत्थान एवं सफलता में बिना किसी लोभ-लालच के कार्य को सहायता पूर्वक करते जाते हैं।

प्रश्न 2. संगतकार जैसे व्यक्ति संगीत के अलावा और किन-किन क्षेत्रों में दिखाई देते हैं?

उत्तर: संगतकार जैसे व्यक्ति संगीत के अलावा और निम्नलिखित क्षेत्रों में दिखाई देते हैं:-
१. नृत्य क्षेत्रों में
२. भवन निर्माण क्षेत्र में
३. नाटक में
४. सिनेमाघर के क्षेत्र में ।

प्रश्न 3. संगतकार किन-किन रूपों में मुख्य गायक-गायिकाओं की मदद करते हैं?

उत्तर: संगतकार निम्नलिखित रूपों में मुख्य गायक-गायिकाओं की मदद करते हैं:-
१. संगतकार मुख्य गायक-गायिकाओं की मदद उनके गाने की गूंज को अपने स्वर के साथ मिलाकर बल देते हैं।
२. संगतकार इस बात का विशेष ध्यान रखते हैं कि उनका स्वर मुख्य गायक-गायिकाओं के गीत का स्वर स्वर के मेल में रहे।
३. जब कभी मुख्य गायक-गायिका का लक्ष्य अपने गीत पर से भटक जाता है, तो तब संगतकार उनके लक्ष्य को उस भटकाव से बचाते हैं।
४. संगतकार मुख्य गायक-गायिकाओं के गायन के बीच में हुए अकेलेपन या थकान को अपने मधुर स्वर का बल देकर मुख्य गायन की श्रेष्ठता बनाए रखते हैं।

प्रश्न 4 भाव स्पष्ट कीजिए उसकी और उसकी आवाज़ में जो एक हिचक साफ सुनाई देती है या अपने स्वर को ऊंचा ना उठाने की जो कोशिश की है उसे विफलता नहीं उसकी मनुष्यता समझा जाना चाहिए।

उत्तर: प्रस्तुत पंक्तियों में कवि ‘मंगलेश डबराल’ जी का कहना यह है कि गायन के समय मुख्य गायक- गायिकाओं के स्वर को सहायता देते हुए जब संगतकार अपने स्वर को मिलाता है तब वह अपने स्वर को उनके स्वर से नीचे ही रखता है, इस बीच संगतकार की आवाज़ में एक घबराहट साफ सुनाई देती है, यह इसी बात का कारण है। फिर कवि ‘मंगलेश डबराल’ कहते हैं कि इसे संगतकार की विफलता नहीं, उनके मनुष्यता का गुण समझना चाहिए क्योंकि वह सामने न आकर भी अपने मेहनत एवं कोशिशों को दूसरे की सफलता के लिए कुर्बान कर देते हैं।

प्रश्न 5 किसी भी क्षेत्र में प्रसिद्धि पाने वाले लोगो को अनेक लोग तरह-तरह से अपना योगदान देते हैं। कोई एक उदाहरण देकर इस कथन पर अपने विचार लिखिए।

उत्तर: किसी भी क्षेत्र में प्रसिद्धि पाने वाले लोगों को अनेक लोग तरह-तरह से अपना योगदान देते हैं। जैसे नृत्य, नाटक, शिक्षा संगीत, फिल्म आदि अनेक क्षेत्र है। उदाहरण के लिए:- किसी फिल्म में एक विशेष मुख्य पात्र होता है उसके प्रसिद्धि प्राप्त होने के पीछे दूसरे अन्य सहायक कलाकार, संगीतकार, गायक, संवाद समझाने वाले, निर्देशक, पोशाक बनाने वाले, सह-गायक, निर्माता आदि अनेक लोगों का सहयोग होता है। लेकिन प्रसिद्धि केवल उसी एक विशेष मुख्य पात्र को मिलती है।

प्रश्न6. कभी-कभी तारसप्तक की ऊँचाई पर पहुँचकर मुख्य गायक का स्वर बिखरता नज़र आता है उस समय संगतकार उसे बिखरने से बचा लेता है। इस कथन के आलोक में संगतकार की विशेष भूमिका को स्पष्ट कीजिए।

उत्तर: कभी-कभी तारसप्तक की ऊँचाई पर पहुँचकर मुख्य गायक का स्वर बिखरता नज़र आता है। उस समय संगतकार उसके पीछे मुख्य धुन को दोहरा कर उसे बिखरने से बचा लेता है। और उसके धैर्य, साहस व हिम्मत को बढ़ाने में सहयोग करता है।

प्रश्न7. सफलता के चरम शिखर पर पहुँचने के दौरान यदि व्यक्ति लड़खड़ाते हैं तब उसे सहयोगी किस तरह सँभालते हैं?

उत्तर: सफलता के चरम शिखर पर पहुंचने के दौरान यदि व्यक्ति लड़खड़ाते हैं तब उसे सहयोगी उत्साह, हिम्मत व हौसला देकर संभालते हैं। पुनः हिम्मत के साथ लक्ष्य की ओर बढ़ने और निराश होने पर भी उसे निरंतर आगे बढ़ने की प्रेरणा देते रहते हैं।

रचना और अभिव्यक्ति

प्रश्न8. कल्पना कीजिए कि आपको किसी संगीत या नृत्य समारोह का कार्यक्रम प्रस्तुत करना है लेकिन आपके सहयोगी कलाकार किसी कारणवश नहीं पहुँच पाए-

(क) ऐसे में अपनी स्थिति का वर्णन कीजिए।

(ख) ऐसी परिस्थिति का आप कैसे सामना करेंगे?

उत्तर: (क) जब हमे संगीत या नृत्य का कार्यक्रम प्रस्तुत करना है लेकिन अचानक सहयोगी कलाकार किसी कारणवश न पहुंच पाए तो मैं परेशान, अकेला और असहाय महसूस करने लगूंगा। यथासंभव उन्हें बुलाने का प्रयास करूंगा और आयोजक से अन्य सहयोगी कलाकार की व्यवस्था कराने का निवेदन करूंगा।

(ख) ऐसी परिस्थिति में मैं स्वयं को संभालने की कोशिश करूंगा। और अपने आयोजकों एवं श्रोताओं के सामने सारी बात साफ – साफ बता दूंगा कि मेरा सहयोगी कलाकार किसी कारणवश आ नहीं पाया। हो सकता है मेरा कार्यक्रम अच्छा रहे लेकिन सहयोगी कलाकार की कमी अवश्य महसूस होती रहेगी।

प्रश्न9. आपके विद्यालय में मनाए जाने वाले सांस्कृतिक समारोह में मंच के पीछे काम करने वाले सहयोगियों की भूमिका पर एक अनुच्छेद लिखिए।

उत्तर: मंच के पीछे काम करने वाले सहयोगियों की सहायता के बिना सांस्कृतिक समारोह की सफलता की कल्पना करना भी बेकार है। क्योंकि यही वह लोग हैं जो कार्यक्रम के लिए आवश्यक वस्तुओं को इकट्ठा करते हैं, अतिथियों के बैठने की व्यवस्था को संभालते हैं और मंच पर प्रकाश का उचित प्रबंध करते हैं। यह सभी लोग पर्दे में आए बिना भी कार्यक्रम को सफल बनाने में अपना भरपूर योगदान देते हैं।

प्रश्न10. किसी भी क्षेत्र में संगतकार की पंक्ति वाले लोग प्रतिभावान होते हुए भी मुख्य या शीर्ष स्थान पर क्यों नहीं पहुंच पाते होंगे?

उत्तर: किसी भी क्षेत्र में संगतकार की पंक्ति वाले लोग प्रतिभावान होते हुए भी मुख्य या शीर्ष स्थान पर इसलिए नहीं पहुंच पाते क्योंकि:
१. उनकी भूमिका पर्दे के पीछे रहती है और दर्शकों का ध्यान प्राय मुख्य कलाकार की ओर रहता है।
२. उनमें मुख्य कलाकार से अलग होकर प्रस्तुति देने का हौसला नहीं होता होगा।
३. उनको उचित अवसर नहीं मिल पाता होगा।
४. आर्थिक तंगी उनके मार्ग का बाधक बनती होगी।
५. शीर्ष स्थान तक पहुंचने में जो प्रयास लगता है वें उतना प्रयास नहीं करते होंगे।

Leave a Reply

%d bloggers like this: